:
दिल्ली हरियाणा पंजाब चंडीगढ़ हिमाचल प्रदेश राजस्थान उत्तराखण्ड महाराष्ट्र मध्य प्रदेश गुजरात नेशनल छत्तीसगढ उत्तर प्रदेश
ताज़ा खबर
स्कूली बच्चें बने सड़क सुरक्षा के प्रहरी - अमित गुलिया   |  रेलवे महिला कल्‍याण संगठन द्वारा स्कूलों में आयोजित किया गया वार्षिक समारोह   |  पूर्वी दिल्ली के प्रतिभा स्कूल को मिलेगी नयी सुविधाएं- महापौर   |  सनशाईन पब्लिक स्कूल का वर्ष 2014-15 का वार्षिक परीक्षा परिणाम घोषित    |  यूजीसी को भंग करने का कोई ऐसा निर्णय नहीं   |  सिरसा: स्कूल में दिलाई कन्या भ्रूण हत्या न करने की शपथ   |  सिरसा :जगन्नाथ जैन पब्लिक स्कूल में हुआ सेमिनार का आयोजन   |  अल्‍पसंख्‍यक शिक्षा योजना में अल्‍पसंख्‍यकों की शिक्षा का बढेता स्तर   |  राष्ट्रीय सिंधी भाषा संवर्धन परिषद (एनसीपीएसएल) की बैठक   |  ऑक्सफोर्ड सीनियर सैकेंडरी स्कूल में हुई फेयरवैल पार्टी    |  
23/12/2014  
एमसीडी के चयनित प्राइमरी शिक्षकों ने किया डीएसएसएसबी पर प्रदर्शन
 
 

दिल्ली नगर निगम में स्थायी प्राइमरी शिक्षक के तौर पर हाल ही में चयनित घोषित किये गए शिक्षकों ने सोमवार 22 दिसंबर को दिल्ली अधिनस्थ सेवा चयन बोर्ड (डीएसएसएसबी) के सामने प्रदर्शन किया। नव शिक्षक निर्माण संगठन के तत्वाधान में आयोजित इस प्रदर्शन के दौरान शिक्षकों ने डीएसएसएसबी से मांग करते हुए कहा कि उनके डोजियर (चयन से संबंधित कागजात) जल्द से जल्द दिल्ली नगर निगम को भेजे जायें ताकि चयनित शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया शुरू हो सके। शिक्षक डोजियर भेजे जाने में हो रही लगातार देरी से नाराज हैं। प्रदर्शनकारी शिक्षकों को डीएसएसएसबी अधिकारियों ने भरोसा दिलाया कि आगामी 29 दिसंबर से डोजियर भेजने का कार्य शुरू कर दिया जाएगा और 20 जनवरी 2015 तक सभी चयनित शिक्षकों के डोजियर दिल्ली नगर निगम के शिक्षा विभाग के सुपर्द कर दिये जायेंगे।

गौरतलब है कि साल 2009 में दिल्ली नगर निगम के स्कूलों के लिए पोस्ट कोड 70/9  के तहत  प्राइमरी शिक्षकों की भर्ती निकाली गई थी।  कई साल की देरी के बाद डीएसएसएसबी फरवरी 2014 में इस भर्ती के लिए लिखित परीक्षा आयोजित की थी। गत् 5 दिसंबर को चयनित 2676 शिक्षकों का रिजल्ट की घोषणा की गई थी। इसके बाद से ही डीएसएसएसबी की तरफ से चयनित शिक्षकों के डोजियर दिल्ली नगर निगम को भेजने में देरी हो रही है। नव शिक्षक निर्माण संगठन के अशोक गुलिया और राहुल कौश्यल यादव का कहना है कि आगामी दिल्ली विधानसभा चुनाव को देखते हुए शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया को तेज किये जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि पिछले 6 साल से हजारों बेरोजगार शिक्षकों के सब्र की परीक्षा ली जा रही है, यह सरकारी तंत्र द्वारा किये जा रहे अन्याय का ज्वलंत उदाहरण है।

 

Back