:
दिल्ली हरियाणा पंजाब चंडीगढ़ हिमाचल प्रदेश राजस्थान उत्तराखण्ड महाराष्ट्र मध्य प्रदेश गुजरात नेशनल छत्तीसगढ उत्तर प्रदेश
ताज़ा खबर
स्कूली बच्चें बने सड़क सुरक्षा के प्रहरी - अमित गुलिया   |  रेलवे महिला कल्‍याण संगठन द्वारा स्कूलों में आयोजित किया गया वार्षिक समारोह   |  पूर्वी दिल्ली के प्रतिभा स्कूल को मिलेगी नयी सुविधाएं- महापौर   |  सनशाईन पब्लिक स्कूल का वर्ष 2014-15 का वार्षिक परीक्षा परिणाम घोषित    |  यूजीसी को भंग करने का कोई ऐसा निर्णय नहीं   |  सिरसा: स्कूल में दिलाई कन्या भ्रूण हत्या न करने की शपथ   |  सिरसा :जगन्नाथ जैन पब्लिक स्कूल में हुआ सेमिनार का आयोजन   |  अल्‍पसंख्‍यक शिक्षा योजना में अल्‍पसंख्‍यकों की शिक्षा का बढेता स्तर   |  राष्ट्रीय सिंधी भाषा संवर्धन परिषद (एनसीपीएसएल) की बैठक   |  ऑक्सफोर्ड सीनियर सैकेंडरी स्कूल में हुई फेयरवैल पार्टी    |  
28/12/2014  
देश में लुप्तप्राय भाषाओं का संरक्षण
 
 

ऐसी कोई भाषा नहीं है जिसे अल्पसंख्यक भाषा कहा जाए। भारत की जनगणना में भाषाओं को अनुसूचित और गैर-अनुसूचित भाषाओं की श्रेणियों में वर्गीकृत किया गया है। देश में 22 अनुसूचित और 100 गैर-अनुसूचित भाषाएं हैं। भारत सरकार की ''भारत की लुप्तप्राय भाषाओं की सुरक्षा और संरक्षण" नामक योजना है। इस योजना के अधीन केन्द्रीय भारतीय भाषा संस्थान (सीआईआईएल), मैसूर देश में 10,000 से कम लोगों द्वारा बोली जाने वाली सभी मातृभाषाओं और भाषाओं की सुरक्षा, संरक्षण और प्रलेखन का कार्य करता है।

Back